Total Views: 110

प्रयागराजः प्रतियोगिता जगत में अपने व्यक्तित्व और मेधा की विशिष्टिता ही आपकी सफलता की गारण्टी है। उक्त बातें दिनांक 17 फरवरी, 2024 को अपराह्न 12.30 बजे से विश्वविद्यालय के अकादमिक भवन – बी के सभागार में प्रो० राजेन्द्र सिंह (रज्जू भय्या) विस्त्रविद्यालय, प्रयागराज द्वारा आयोजित उद्यम अभिमुखीकरण कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोलते हुए प्रख्यात शिक्षाविद् एवं इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय ट्राइवल विश्वविद्यालय, अमरकंटक, म०प्र० के पूर्व संस्थापक कुलपति प्रो० सी०डी० सिंह ने कहीं। उन्होने आगे कहा कि परिश्रम ही सफलता की कुंजी है। आज के विद्यार्थी को केवल नौकरी के लिए नहीं बल्कि नौकरी देने वाले की श्रेणी में आने के प्रयास करने चाहिए ।

जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में हर व्यक्ति की अपनी उपयोगिता और प्रासंगिकता होती है, जरूरत सिर्फ इस बात की है कि व्यक्ति अपनी विशिष्ट क्षमताओं को पहचाने। उन्होने सभागार में उपस्थित विद्यार्थियों से आग्रह किया कि जिस तरह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मा० योगी आदित्यनाथ जी उत्तर प्रदेश को सर्वोत्तम प्रदेश बनाना चाहते हैं, उसी तरह हर विद्यार्थी को सर्वोत्कृष्ठ विद्यार्थी बनते हुए सफलता के उच्चतम शिखर तक पहुंचना चाहिए। प्रो० सी०डी० सिंह ने राज्य सरकार द्वारा क्रियान्वित कई योजनाओं के बारे में विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री जी की महत्वाकांक्षी योजना वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट’ माननीय प्रधानमंत्री जी के स्वदेशी अभियान और मेक इन इण्डिया की योजना को स्वरूप की ओर और वृहद किया है।

उन्होने कहा कि उoप्रo में टूरिज्म इन्डस्ट्री में अपार संभावनाएं हैं, और प्रदेश सरकार इसे समावेशी विकास के साथ जोड़ते हुए सार्थक और सफल रोजगार से सम्बद्ध करने के लिए कृत संकल्पित है और इसके निमित्त कई योजनाएं संचालित कर रही है। उन्होने आगे कहा भारत के एक्सप्रेस वे नेटवर्क का 40 प्रतिशत हिस्सा उत्तर प्रदेश में है जो कि एक मजबूत आधारशिला है प्रदेशके विकास की, और इस विकास की यात्रा में हम सभी एक सफल उद्यमी बनकर उत्तर प्रदेश को देश का उत्तम प्रदेश बनाने की दिशा में अग्रणी भूमिका निभाकर एक जिम्मेदार नागरिक बन सकते हैं।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में सम्बोधन देते हुए प्रयागराज विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री अरविन्द सिंह चौहान ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के विकास की समावेशी योजनाएं सशक्त भारत की आधारशिला है। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार की योजनाएं सार्थक रूप से क्रियाशील करने के निमित्त उच्च शिक्षण संस्थाओं जैसे विश्वविद्यालय तथा इसमें अध्ययनरत् विद्यार्थियों की महती भूमिका होगी तथा इसके लिए विद्यार्थियों को अध्ययन के साथ-साथ विकास के लिए आगे आना ही होगा ।

कार्यक्रम की नोडल अधिकारी अधिष्ठाता – वाणिज्य संकाय प्रो० अर्चना चन्द्रा ने विषय परिवर्तन किया तथा कार्यक्रम में स्वागत उद्बोधन अधिष्ठाता, छात्र – कल्याण प्रो० राज कुमार गुप्त जी ने किया तथा कार्यक्रम का संचालन कुलानुशासक डॉ० अविनाश कुमार श्रीवास्तव तथा धन्यवाद ज्ञापन कुलसचिव श्री संजय कुमार ने दिया । कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत डॉ० आशुतोष कुमार सिंह एवं प्रो० विवेक कुमार सिंह ने किया। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के समस्त शिक्षक, अधिकारीगण तथा बड़ी संख्या में छात्र – छात्राएं उपस्थित रहे।

Leave A Comment