Total Views: 30

वाराणसीः पॉटरी-सिराकिम सेक्शन मूर्तिकला विभाग] दृश्य कला संकाय काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में 15 दिवसीय क्रिस्टल ग्लेज कार्यशाला का उद्घाटन डा. उत्तमा दीक्षित के कर-कमलों से महामना की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप जलाकर हुआ।
इस कार्यशाला के अर्न्तगत सिरामिक पात्रों का निर्माण कर उस पर क्रिस्टल ग्लेज फायरिंग प्रक्रिया की जाएगी, जो बेहद आकर्शक एवं रोचक तकनीक है। मुख्य रूप से कार्यशाला विषय विशेशज्ञ डा. मादी लिण्डा, असिस्टेंट प्रोफेसर, शांति निकेतन एवं श्री मनोज शर्मा] स्वतन्त्र कलाकार (ग्लेज फायरिंग एक्सर्पट)] पुणे महाराष्ट्र की देख-रेख में सम्पन्न होगा।
इस कार्यशाला के उद्घाटन में मुख्य रूप से समन्यवयक डा. ब्रह्म स्वरूप एवं संयोजक डा. शांति स्वरूप सिन्हा] सह-संयोजक डा. मनीश अरोरा] प्रदर्शनी संयोजक डा. सुरेश चन्द्र जांगिड़] परिनियामक डा. राजीव मंडल] श्री मृगेन्द्र प्रताप सिंह के अतिरिक्त दृश्य कला संकाय के सभी शिक्षकगण एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।

Leave A Comment