Total Views: 58
हिसारः गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार ने ओवरऑल तथा यूनिवर्सिटी रैंकिंग में देश की प्रतिष्ठित एनआईआरएफ रैंकिंग 2024 के लिए ऑनलाइन आवेदन कर दिया गया है।  विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. नरसी राम बिश्नोई ने ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया।  इस अवसर कुलपति प्रो. नरसी राम बिश्नोई ने बताया कि एनआईआरएफ रैंकिंग में उच्च स्थान हासिल करना किसी भी शिक्षण संस्थान के लिए गौरव की बात है।  विश्वविद्यालय के विभागों के शिक्षक अनुसंधान के क्षेत्र में अच्छा कार्य कर रहे हैं।  विश्वविद्यालय के शिक्षक अत्यंत अनुभवी हैं तथा प्रतिष्ठित पत्रिकाओं में प्रकाशन के साथ अपने अनुसंधान क्षेत्रों में अग्रणी हैं। उन्हें विश्वास है कि विश्वविद्यालय इस बार और अधिक बेहतर एनआईआरएफ रैंकिंग प्राप्त करेगा।
कुलपति प्रो. नरसी राम बिश्नोई ने इस रैंकिंग के लिए विश्वविद्यालय के इंटरनल क्वालिटी एश्योरेंस सैल द्वारा दी गई प्रस्तुति की सराहना करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय का इंटरनल क्वालिटी एश्योरेंस सैल लगातार अत्यंत सराहनीय कार्य कर रहा है।  इस प्रतिष्ठित रैंकिंग के लिए इंटरनल क्वालिटी सैल ने बहुत अच्छा डाटा प्रस्तुत किया है।  उन्होंने कहा कि विभिन्न केटेगरी में एनआईआरएफ रैंकिंग पाने में यह विश्वविद्यालय अग्रणी रहा है।
कुलपति प्रो. नरसी राम बिश्नोई ने बताया कि विश्वविद्यालय ने फार्मेसी, प्रबंधन व इंजीनियरिंग वर्ग में एनआईआरएफ रैंकिंग 2024 के लिए पहले से ही आवेदन किया हुआ है।  उन्होंने बताया कि एनआईआरएफ भारत की एक प्रतिष्ठित रैंकिंग प्रणाली है, जिसमें पांच विभिन्न मापदंडों पर एक शैक्षणिक मूल्यांकन किया जाता है।  जिसमें टीचिंग, लर्निंग एंड रिसोर्सिज, रिसर्च एंड प्रोफेशनल प्रेक्टिस, ग्रेजुएट आऊटकम, आउटरीच एंड इंक्लुसिविटी तथा परसेप्शन मुख्य हैं।  इन सभी आधार पर किसी शिक्षण संस्थान का स्कोर आंका जाता है।  जिस संस्थान का स्कोर बेहतर होता है, उस शिक्षण संस्थान को राष्ट्रीय स्तर की रैंकिंग में शामिल किया जाता है।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय के तकनीकी सलाहकार प्रो. संदीप राणा, डीन ऑफ कॉलेजिज प्रो. संजीव कुमार, इंटरनल क्वालिटी एश्योरेंस सैल के निदेशक प्रो. आशीष अग्रवाल, उप निदेशक प्रो. कश्मीरी लाल व विनोद गुलाटी रहे।

Leave A Comment