Total Views: 26
बेटियों के लिए लिए संचालित आशा स्टडी सेंटर व ई लाइब्रेरी का एक वर्ष पूरा 
वार्षिकोत्सव में बच्चियों ने प्रस्तुत किये सांस्कृतिक कार्यक्रम 
बेटियां पढ़े आगे बढ़ें के संकल्प से संचालित की जा रही है ई-लाइबेरी 
घर जैसे सुरक्षित माहौल में बेटियां अच्छा करने की मुहिम में जुटी लाइब्रेरी की बच्चियां  
वाराणसीः ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाओं के लिए विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी, ऑनलाइन कोचिंग क्लास, परीक्षाओं की पुस्तकों, पत्रिकाओं, खेलकूद के सामान की व्यवस्था एक ही छत के नीचे करने के उद्देश्य से सामाजिक संस्था आशा ट्रस्ट द्वारा भंदहा कला (कैथी) गाँव में संचालित किये जा रहे ई लाइब्रेरी एवं स्टडी सेंटर का एक वर्ष पूर्ण होने पर केंद्र से जुड़ी बच्चियों ने वार्षिकोत्सव मनाया.
इस अवसर पर बच्चियों ने अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये. उपस्थित आगंतुकों को सम्बोधित करते हुए आशा के समन्वयक वल्लभाचार्य पाण्डेय ने बताया संस्था द्वारा बेटियां पढ़ें खूब आगे बढ़ें  का उद्धेश्य लेकर इस केंद्र का संचालन किया जा रहा है जिससे क्षेत्र की बालिकाएं अपनी क्षमता का बेहतर प्रदर्शन करते हुए राष्ट्र की बेहतर सेवा में अपना योगदान दे सकें. आस पास के कई गांवों की लगभग चार दर्जन बच्चियां केंद्र का नियमित लाभ पूरी तरह निःशुल्क ले रही है. केंद्र पर कक्षा 6 से 10 की बालिकाओं के गणित, विज्ञान और अंग्रेजी के विशेष शिक्षण की व्यवस्था की गयी है. ज्ञातव्य है कि केंद्र से जुड़ी 3 बेटियों का चयन अभी हाल में ही बिहार राज्य में शिक्षक पद पर हुआ है. इस केंद्र के सफल संचालन को देखते हुए बलिया, आजमगढ़ और मिर्ज़ामुराद में ऐसे ही केन्द्रों को स्थापना संस्था द्वारा इसी माह की जा रही है.
इस अवसर पर प्रमुख रूप से कार्यक्रम में संचालन शिवांगी भारद्वाज, अध्यक्षता मधुरानी पाण्डेय और धन्यवाद ज्ञापन मानसी सिंह ने किया इस अवसर पर प्रदीप सिंह, गीता पाण्डेय, रूबी, विद्या देवी, आंचल, रमेश प्रसाद आदि की उपस्थिति रही.

Leave A Comment