Total Views: 108

वाराणसीः पृथ्वीपुर गांव जौनपुर एवं वाराणसी के बडा गाँव  ब्लॉक के बलुवा  गाँव   मे समन्वित ग्रामीण विकास केंद्र, काशी हिंदू विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने गाँव मे चल रहे कृषि आधारित उद्योग के बारे मे अध्ययन किया। पृथ्वीपुर गांव जौनपुर  में देव एग्रो  फ्लोर मिल के बारे में  श्री देवाशीष कुमार पांडेय ने बताया कि ग्रामीण रोजगार के अवसर ग्रामीण उद्योग से संभव हो पाया है।

सिमरिया गांव में फिश फीड प्लांट पर छात्रों ने फिश फीड बनाने की जानकारी प्राप्त की। बलुवा गांव में शांती फूड में फूड प्रोसेसिंग सेंटर का भी भ्रमण किया। डॉ  आलोक पांडेय कोर्स कोऑर्डिनटोर समन्वित ग्रामीण विकास केंद्र के निर्देशन मे ग्रामीण उद्योग , कृषि एवं अन्य व्यवसाय, स्वाथ्य, शिक्षा इत्यादि ग्रामीणों की समस्याओं, गाँव मे उपलब्ध सुविधाओं एवं विकास की जानकारी  प्राप्त की । जिसमे छात्रों ने ग्रामीण अध्ययन की विधियों से  लोगों के दिन चर्या , कार्य कलाप,  बीमारी एवं बेरोजगारी के बारे मे जाना। गाँव  मे लोगों की मिल रही सुविधाओं जैसे प्रधानमंत्री आवास योजना, घर नल, आयुष्मान योजना , उज्वला योजना के बारे मे जाना।   ग्रामीणों ने अपनी समस्याओं के बारे मे भी बताया । बच्चों के लिए  नन्द घर एवं स्कूल की सुविधा उपलब्ध है।

सामाजिक विज्ञान संकाय की संकाय प्रमुख एवं केंद्र की निदेशक ने प्रोफ बिंदा परांजपे ने छात्राओं एवं छात्रों को संबोधित करते हुए कहा की विकास के साथ हमे गाँव मे महिलाओं की समस्याओं को दूर करने का प्रयास करना होगा उनके शिक्षा, स्वास्थ्य , एवं अधिकार पर ध्यान देना होगा।

शांति फूड घरेलू उद्योग के द्वारा उत्पादित विभिन्न ऑरेंज स्क्वाश , लेमन स्क्वाश, आचार, मुरब्बे  एवं आवला के बनाने की विधि एवं घरेलू उद्योग को चलाने मे आने वाली समस्याओं के बारे मे जानकारी के द्वारा दी गई।

 प्रोजेक्ट ऑफिसर बी पी सिंह, असिस्टन्ट रेजिस्ट्रार यल बी पटेल ,  राम जी , एवं स्नातकोत्तर के विद्यार्थी इस अध्ययन दल  मे सम्मिलित थे।

डॉ आलोक कुमार पाण्डेय

कोर्स कोऑर्डिनटोर

समन्वित ग्रामीण विकास केंद्र

9389623510

Leave A Comment