Total Views: 105

वाराणसी: चिकित्सा विज्ञान संस्थान में अतिथि वक्ता के रूप में इंडियन रूमेटोलॉजी संगठन के सचिव प्रोफेसर विनोद रवींद्रन ने “स्टेरॉयड: हमारे मित्र या शत्रु” विषय पर अपना व्याख्यान दिया। उन्होंने स्टेरॉयड ग्रुप की दवाओं के फायदे और नुकसान पर प्रकाश डाला। मुख्य रूप से लो और हाई डोज स्टेरॉयड के फर्क पर चर्च की। मेडिकल साइंस के लगभग सभी विभाग में स्टेरॉयड का उपयोग किया जाता है और इसके दुरुपयोग से शरीर का कोई भी अंग अप्रभावित नहीं रहता।

इसलिए यह आवश्यक है कि स्टेरॉयड से होने वाले फायदे और नुकसान को समझकर ही इसका प्रयोग किया जाए। कार्यक्रम की शरुआत डायरेक्टर प्रोफेसर एस. एन. शंखवार जी ने अतिथि वक्ता प्रोफेसर रवींद्रन को पुष्प गुच्छ भेंटकर किया और समापन डीन मेडिसिन प्रोफेसर अशोक चौधरी जी ने एक स्मृति चिन्ह प्रदान कर किया।इस अवसर पर डायरेक्टर और डीन-मेडिसिन के अतिरिक्त डीन आयुर्वेद प्रोफेसर पी. के. गोस्वामी, डीन डेंटल साइंसेस प्रोफेसर एच.सी. बरनवाल, मेडिसिन विभागध्यक्ष प्रोफेसर धीरज किशोर, प्रोफेसर जया चक्रवर्ती, प्रोफेसर ललित मीणा, डॉ. नीलेश कुमार, डॉ. रंजन भटनागर, डॉ. अभिषेक पाठक, डॉ. ईशान मिश्रा, डॉ.संजय यादव आदि उपस्थित थे।कार्यक्रम का संचालन गठिया संभाग के प्रोफेसर दीपक गौतम ने किया।

Leave A Comment