Total Views: 35

वाराणसीः राजीव गांधी दक्षिणी परिसर (बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय), मिर्जापुर के पर्यावरण विज्ञान विभाग में वन एवं घड़ियाल संरक्षण से संबंधित दो शैक्षिक व्याख्यान प्रस्तुत किए गए। सर्वप्रथम वाइल्ड लाइफ  संरक्षण ट्रस्ट के श्री तरूण नायर जी नें घड़ियालो के उद्विकास, इनके मगरमच्छ से अंतर, घड़ियालो के अनुकूलन आदि सहित, भारत में घडियालों के फैलाव, निवास स्थान, उनपर संकट, उनका महत्व एवं उनके संरक्षण से संबंधित विस्तृत व्याख्यान प्रस्तुत किया।

तत्पश्चात विधि सेंटर ऑफ लीगल पॉलिसी एवं विन्ध्य इकोलॉजी एवं नेचुरल हिस्ट्री फाउंडेशन के श्री देबोदित्यो सिन्हा जी नें भारत में जंगलों से संबंधित विभिन्न भारतीय क़ानूनों की परिभाषा एवं उनके निर्माण, उनके व्यापक असर एवं उनकी कमियों आदि पर विस्तृत व्याख्यान प्रस्तुत किया।

उन्होंने इंगित किया की किस प्रकार वन कानूनों में कमी के कारण विभिन्न वन्य जीव लगातार लुप्त होते जा रहे है। इस अवसर पर डॉ कुलदीप बौद्ध, डॉ अनिल कुमार पांडेय, डॉ रजनी श्रीवास्तव, डॉ विजय कृष्ण, श्री कार्तिक एवं अतुल तथा सभी छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Leave A Comment