Total Views: 20

वाराणसीः विश्वविद्यालय पर्वतारोहण केन्द्र के छात्र-छात्राओं का 14 सदस्यीय दल काशी हिन्दू विश्वविद्यालय का परचम बुलंद कर वापस लौटी है, ज्ञात हो कि इस दल को छात्र अधिष्ठाता प्रो अनुपम कुमार नेमा ने हरी झण्डी दिखाकर 24 जून को रवाना किया था। टीम के सफल वापसी पर छात्र अधिष्ठाता महोदय एवं केन्द्र के प्रभारी प्रो0 अनिल कुमार सिंह ने दल का स्वागत किया और शुभकामनाएं दी। यह दल केन्द्र के प्रशिक्षक श्री बलराम यादव एवं शिवनारायण यादव के नेतृत्व में हिमाचल के मनाली से अपनी आरोहण की शुरुआत की थी।
प्रशिक्षक बलराम यादव ने बताया कि हमारा दल माउंट यूनम के आरोहण के लिए निकली थी जिसकी उंचाई समुद्रतल से लगभग 6150 मीटर (20300 फिट) की है, किसी भी प्रशिक्षु पर्वतारोही के लिए यह उंचाई बेशक एक बड़ा लक्ष्य होता है फिर भी हमारी टीम ने हर चुनौतियों का सामना करते हुए माउंट यूनम के समिट कैम्प जो कि 5200 मीटर पर स्थित है तक सफल क्लाइंबिंग किया, ट्रांस हिमालय के बेहद चरम मौसम जिसे कोल्ड डेजर्ट के नाम से भी जाना जाता है यहां ऑक्सिजन लेवल काफी कम है। यहां पर सर्वाइब करना भी बेहद चुनौतीभरा कार्य है, यहां हमारे दल के अधिकांश सदस्यों को एक्युट माउंटेन सिकनेस का सामना करना पड़ा जिससे टीम को 5 हजार 200 मीटर की उंचाई पर पहंुचने में अनेक जल प्रपातों, बर्फिले रास्तों को पार करना पड़ा उसे ही सर्वोच्च हाइट मानकर हमारे दल ने वहीं पताका फहराने का निर्णय लिया। देखा जाये तो पहली बार में किसी भी प्रशिक्षु पर्वतारोही के लिए इतनी उचांई मायने रखती है।
निदेशक ने बताया कि इस टीम ने इस अभियान के लिए दो महिने का अथक तैयारी की थी।
दल में जिग्नेश पटेल, डेनिस, प्रीतम सिंह, पूर्व छात्र अभिनव पाण्डेय, विशाल अग्रवाल, लीडर- अमन कुमार, डीप्टी लीडर- सृष्टी श्री, क्वार्रटर मास्टर- अंकित कुमार , खुशी भारती, मेडिकल ऑफिसर- जाह्नवी शाही, इन्फोर्मेशन ऑफिसर-अंचिता अरोरा, एक्युप्मेंट ऑफिसर – उदयवीर यादव, लगेज ऑफिसर- हिमांशु रंजन एवं शिवांगी शरन, ट्रांसपोर्ट ऑफिसर- रघु प्रकाश, चित्रांशी सरन, रिक्रिएशन ऑफिसर- टिंकू कुम्हार के साथ प्रशिक्षक बलराम यादव व शिवनारायण यादव शामिल थे।

Leave A Comment